‘भारत’ से आज के दौर के क्रिएटर्स से मिलिए- हेलो का प्लेटफॉर्म स्थानीय कंटेंट क्रिएटर्स को बना रहा है सशक्त

इसमें कोई संदेह नहीं कि ‘कंटेंट ही आज के ज़माने का किंग है’! युगों से यह तथ्य सभी संचार अभिव्यक्तियों का मूल आधार रहा है। आज के दौर के नए सोशल मीडिया परिवेश ने ‘कंटेंट क्रिएटर’ को इस अभिव्यक्ति का अभिन्न हिस्सा बना दिया है। वास्तव में आज उपयोगकर्ताओं के लिए बड़ी संख्या में सोशल मीडिया ऐप्स उपलब्ध हैं, जिसके चलते वे सही चुनाव को लेकर भ्रमित हो रहे हैं। अक्सर उपयोगकर्ता ऐसे प्लेटफॉर्म को चुनते हैं, जिसे इस्तेमाल करना आसान हो, जो उन्हें विभिन्न श्रेणियों में कंटेंट बनाने की आजादी दे और उन्हें बड़ी संख्या में प्रशंसकों और फॉलोवर्स के साथ जोड़े। और सबसे महत्वपूर्ण तथ्य यह है कि अपनी सहज भाषा में इस प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कर सकें।

हिंदी, तेलुगु, तमिल, मलयालम एवं कई अन्य भाषाओं सहित 14 भारतीय भाषाओं में उपलब्ध हेलो आपको नए दोस्त बनाने, उनके साथ नई ,खबरें, चुटकुले, मेमेज़ शेयर करने, स्टेटस अपडेट, शुभकामनाएं देने, कोट्स, शायरी और बॉलीवुड की खबरें शेयर करने का मौका प्रदान करता है। यह ऐप आसानी से इस्तेमाल किए जा सकने वाले टूल्स और सहज यूजर इंटरफेस के साथ अपने उपयोगकर्ताओं के लिए विचारों की अभिव्यक्ति को सुगम बनाता है। आज के उपयोगकर्ता अपने समय और सुविधा के अनुसार कंटेंट का इस्तेमाल करना चाहते हैं, हेलो उन्हें यह सब कुछ प्रदान करता है। जैसे ही उपयोगकर्ता किसी विशेष प्रकार का कंटेंट इस्तेमाल करना शुरू करता है, हेलो का एआई-उन्मुख एल्गोरिदम उसकी पसंद एवं नापसंद के आधार पर उसे पर्सनलाईज्ड सामग्री प्रदान करने लगता है।उपयोगकर्ता को यूज़र-जनरेटेड कंटेंट के निर्माण के लिए प्रोत्साहित करके हेलो आज भारत में तेजी से बढ़ते क्रिएटर कम्युनिटी के साथ सबसे तेजी से विकसित होता क्रिएटर अनुकूल प्लेटफॉर्म बन गया है।

UC News क्या है? UC News से पैसा कैसे कमाए? [2019]

यह ऐप हेलो सुपरस्टार, सेफर इंटरनेट डे के लाईक सहित विभिन्न अभियानों के माध्यम से उपयोगकर्ता को ओरिजिनल, गुणवत्तापूर्ण कंटेंट बनाने के लिए प्रेरित करता है। उपयोगकर्ता अपने रोजमर्रा के जीवन पर आधारित कंटेंट बना सकते हैं और पोस्ट शेयर कर सकते हैं, वे चुटकुले, शायरी और सामान्य ज्ञान की जानकारी को साझा कर सकते हैं |

हेलो जैसे प्लेटफॉर्म उपयोगकर्ता को एक जैसी सोच वाले बड़े समुदाय के साथ जोड़ते हैं। ये आधुनिक ऐप नए तरीकों से क्रिएटर्स को प्रभावित करते हैं, उन्हें सक्षम बनाते हैं- ताकि वे ऐसा सामयिक और प्रासंगिक कंटेंट बना सकें, जो विभिन्न प्रकार के दर्शकों को लुभाने में सक्षम हो।

हेलो ने भारत में अपने 365 दिन पूरे होने के उपलक्ष्य में अपने पहले क्रिएटर्स समिट का लॉन्च किया, जो समाज में मौजूद जानकारी के अंतराल को दूर करने और क्षेत्रीय भाषी समुदायों को सशक्त बनाने के हेलो के मिशन की पुष्टि करता है। इस प्रमुख क्रिएटर पहल के तहत हेलो ने अपने प्रमुख प्रोडक्ट फीचर्स के लॉन्च का भी ऐलान किया, जो क्रिएटर्स को विकसित होने तथा अपने दर्शकों को बेहतर समझने में मदद करेंगे।

हेलो ने हाल ही में अपने प्लेटफॉर्म पर शीर्ष पायदान के 100 क्रिएटर्स को सपोर्ट करने के लिए एक प्रोग्राम का लॉन्च किया, साथ ही ऐसे टूल्स भी लॉन्च किए हैं, जिनके द्वारा क्रिएटर्स अपने फॉलोवर्स को समझ सकते हैं, उनसे फीडबैक ले सकते हैं और इस आधार पर अधिक रोचक कंटेंट बना सकते हैं।

सोशल मीडिया स्पेस के बढ़ने के साथ मौजूदा टूल्स को सशक्त बनाकर और नए टूल्स के निर्माण द्वारा न केवल ऐप क्रिएटरों को आकर्षित किया जा सकता है बल्कि इन ऐप्स की लोकप्रियता बढाकर इन्हें नए आयाम भी दिए जा सकते हैं। यह पहल मौजूदा एवं भावी उपयोगकर्ताओं को लुभाने में कामयाब होगी।

Last Word

दोस्तों मुहे उमीद है की आपलोगों की हेलो app के बारे में ये लेख पसंन्द आया होगा, ये पोस्ट हेलो app के तरफ से sponsored है। मेरे हिसाब से आपको ये प्लेटफॉर्म एक बार use करके देखना चाहिये, मुझे उमीद है आपको इस प्लेटफॉर्म का कंटेंट जरुर पसंद आयेगा। और अगर आप उन लोगोमे से है जिनको अपना creativity या ऑनलाइन content बनाना अच्छा लगता है तो आपको इस app को एक बार जरुर use करना चाहिये, मेरे ये कहने का कारन है की जितने भी ऐसे नए platforms है इनका organic growth बहोत अच्छा होता है, इसका मतलब इन प्लेटफॉर्म्स में आपका फोल्लोवेर्स बहोत जल्दी जल्दी बढ़ने का chance है।

अगर आपको ये पोस्ट पसंद आया है तो आप इसे अपने सोशल मीडिया और अपने दोस्तों के साथ शेयर कर जकते है, जिसके मदद से वोह भी इन्टरनेट में अपना एक पहचान बना सके.

Also read this:

Leave a Comment